सकारात्मक सोच की शक्ति the power of positive thinking pdf free download

the power of positive thinking pdf in hindi ke bare me lekhak ke shabd-

the power of positive thinking pdf in hindi ke bare me lekhak ke shabd-

is kitab ko likhate samay mainne kalpana bhee nahin kee thee ki is kitab kee 20 laakh pratiyaan bechane ke lie is prakaar ka samaaroh aayojit kiya jaega. sach kahoon to main bahut aabhaaree nahin hoon ki is kitab kee itanee bikree huee hai, lekin main bahut aabhaaree hoon ki meree is kitab ke saral aur vyavaharik darshan se itane saare log laabhaanvit hue hain.

पतंजलि योग सूत्र patanjali yoga sutras pdf

Kitab mein die gae jaadui siddhaanton ko maine bahut mehnat se seekha hai. apane vyaktigat jeevan path mein, mainne unhen koshish karake aur kaee galatiyaan karake seekha hai, lekin mainne apni samasyaon ka sabhee uttar unamen khoje hain aur mujhe vishwas hai ki vah sabse kathin vyakti hain jin ke sath maine kaam kiya hai. is kitab mein mera prayaas raha hai ki main apne aadhyaatmik anubhav ko sabake saath saajha karoon kyon ki agar yah kitab meree madad kar sakatee hai, to mujhe lagata hai ki yah doosaron kee bhee madad kar sakatee hai. \ रहस्य the secret book Rhonda Byrne
jeevan ke ek bahut hee saral darshan kee rachana karate hue, mainne sabhee samasyaon ka uttar yeeshu maseeh kee shikshaon mein paaya. mainne bhaasha aur vichaaron ke roop mein keval aise hee satyon ka varnan karne ka prayas kiya hai jo vartaman yug mein logon dvara samajha ja sakata hai. meree kitaab mein jeene ka tareeka bahut hee shaanadaar hai.
yah aasan nahin hai. vaastav mein, yah aksar hota hai

The power of positive thinking pdf in hindi के बारे में लेखक के कुछ शब्द :

Download Now

यह पुस्तक लिखते समय मैंने कभी भी नहीं सोचा था कि इसकी 20 लाख प्रतियों के बिकने का ऐसा एक दिव्य समारोह आयोजित किया जाएगा। सच कहूं तो मैं इस बात के लिए कृतज्ञ नहीं हूं कि है मेरी पुस्तक इतनी ज्यादा मात्रा में बिकी। बल्कि इस बात के लिए कृतज्ञ हूं कि इतने सारे लोगों ने मेरी इस आसान और जिंदगी में सदैव काम आने वाली फिलोसोफी से लाभ उठाया है।

इस किताब the power of positive thinking pdf in hindi में जो भी जादुई सिद्धांत दिए गए हैं उन्हें मैंने बहुत ही कष्ट उठाकर सीखा है। अपनी जिंदगी की राह की व्यक्तिगत खोज में मैंने अथक कोशिश कर करके और गलती कर करके इन्हें सीखा है। परंतु मुझे इनमें अपनी सारी समस्याओं का हल मिल गया| और मेरा यकीन मानिए मैं वह सबसे मुश्किल व्यक्ति हूं जिसके साथ मैंने काम किया है| इस पुस्तक में मेरी सिर्फ यही कोशिश रही है कि मैं अपने सारे आध्यात्मिक अनुभव को आप सबके साथ बांटो क्योंकि अगर यह मेरी सहायता कर सकता है तो मुझे ऐसा लगता है कि यह आपकी भी सहायता करेगा|
जीवन की आसान फिलोसोफी बनाते समय मुझे अपनी सारी समस्याओं के जवाब भगवान के उपदेशों में मिले| मैंने केवल उन्हीं सच्चाई यों का वर्णन एक ऐसी भाषा और विचारों के रूप में करने की कोशिश की है जो आज के युग में लोगों को समझ में आ जाए| यह किताब जीवन की तरह को बताती है जिस तरह की ओर इंगित करती है वह बेहद ही अद्भुत है यह आसान नहीं है दरअसल यह अक्सर कठिन है परंतु यह खुशी आशा और भरपूर विजय से भरी हुई है|

मुझे वह दिन आज भी याद है, जब मैंने यह किताब the power of positive thinking pdf in hindi लिखना शुरू किया था मैं जानता था कि सर्वश्रेष्ठ काम के लिए जिस प्रकार की योग्यता चाहिए थी वह मुझ में नहीं थी और इसलिए मुझे सहायता की आवश्यकता थी और ऐसी सहायता केवल ईश्वर ही कर सकते हैं|
मैं और मेरी पत्नी दोनों की एक आदत है कि हम अपनी सारी समस्याओं और गतिविधियों में भगवान को अपना साझेदार अपना पाटनर बना लेते हैं| इसलिए हमने बहुत गंभीरता से प्रार्थना की ईश्वर से मार्गदर्शन मांगा और इस पूरे काम को उसी के हाथों में सौंप दिया|
जब पुस्तक प्रकाशक के पास भेजने के लिए तैयार हो गई तब भी मैंने और मेरे पत्नी ने एक बार फिर से प्रार्थना की और इसे उस ईश्वर के चरणों में अर्पित कर दिया| हमने केवल यही मांगा और सिर्फ यही प्रार्थना की की यह लोगों की जिंदगी को अधिक से अधिक प्रभावी और बेहतर बनाने में मदद करें|
जब इन 20 लाख प्रतियों में से पहली पुस्तक छप कर हमारे पास आई तो सच मानिए यह मेरे लिए एक बहुत ही अद्भुत क्षण था| हमने ईश्वर को उनकी मदद के लिए कोटि-कोटि धन्यवाद दिया और एक बार फिर इस पुस्तक को उन्हीं के चरणों में समर्पित कर दिया

अन्य किताबे-

    1. रामचरितमानस हिंदी पुस्तक | Ramcharitmanas in Hindi pdf Download free
    2.  श्रीमद्भगवद्‌गीता | Shrimad Bhagwat Geeta in Hindi PDF

Description of the book in English :

At the time of writing this book the power of positive thinking pdf in hindi, I had not even imagined that this kind of ceremony to sell two million copies of this book would be organised. Frankly, i am not very grateful that this book has sold so much, but i am very grateful that so many people have benefited from the simple and practical philosophy of my this book.

The magic principles given in this book, I have learned them through very hard work. In my personal path of life, I have learned them by trying and making many mistakes, but I have found all the answers to my problems in them and believe me he is the toughest person I have worked with. It has been my endeavour in this book to share my spiritual experience with everyone because if this book can help me,I think it can help others too. \
While creating a very simple philosophy of life, I found every answer to all problems in the teachings of Jesus Christ. I have tried to describe only such kinds of truths in the form of language and ideas that can be understood by people in the current age. The way of life my book tells is very wonderful.
It’s not easy. in fact, it is often

कुछ बाते

हम बचपन में जो कुछ भी सोच अपनाते हैं, वो जीवन भर हमारे साथ रहता है। इसमें कोई दो राय नहीं कि बचपन में हमारे लिए सोच को सकारात्मक(Positive Thinking) बनाना बेहद आसान होता है। अगर जन्मजात स्वाभाव और बचपन के अनुभव के मेल से आपकी सोच बन गयी है, तो हम वाकई बेहद खुशकिस्मत हैं।

लेकिन जानबूझ कर या किसी अन्य कारण की वजह से हमारी सोच नकारात्मक बन गयी हो तो क्या हम उससे हमेशा चिपके रहेंगे?
कतई नहीं!
क्या इसे अब बदला जा सकता है? हाँ!
तो क्या ऐसा करना आसान होगा?
बिल्कुल नहीं! क्या हम यह करने लायक है?
यक़ीनन!

हमें जैसा भी वातावरण, शिक्षा और तजुर्बा अर्थात अनुभव मिला हो, पर बड़े होने के बाद हमारी सोच के लिए कौन जिम्मेदार है? खुद हम।
हमें अपने व्यवहार और कामों की जिम्मेदारी को स्वीकार करना ही होगया किसी भी परिस्तिथि में भी। कुछ लोग अपनी किसी ग़लती के लिए, खुद को छोड़ कर बाकी सभी लागों को दोषी ठहराते रहते हैं। किन्तु यह हम पर निर्भर करता है कि हर सुबह हम अपनी सोच खुद चुने।

the power of positive thinking pdf in hindi

नकारात्मक सोच वाले लोग अपनी साड़ी असफलताओं के लिए अक्सर माँ-बाप, शिक्षक, जीवनसाथी, बाँस, सितारों, तकदीर, आर्थिक स्थितियों और सरकार, यानी पूरी दुनिया को जिम्मेदार ठहराते रहते हैं, किन्तु खुद स्वीकार नहीं करते है।

हमको अपने पुराने बीते दिनों से आज़ाद होना होगा। हमें अपने सपनों की एक सुन्दर तस्वीर बना कर आगे बढ़ना होगा। सच्चाई, ईमानदारी और अच्छाई से जुड़ी बातो के बारे में सोचने से हमारी सोच भी सकारात्मक हो जाएगी।

tags- power of positive thinking pdf, the power of positive thinking pdf, the power of positive thinking pdf download, the power of positive thinking book pdf, the power of positive thinking pdf in hindi, the power of positive thinking pdf free download

पुस्तक के कुछ अद्भुत विचार-

 

  1. अपने दिमाग में यह अमिट छवि बिठाले कि आप सफल हो रहे हैं इस छवि को हमेशा सफलता से बनाए रखें इसे कभी भी धुंधला ना होने दें| आपका मन मस्तिष्क तस्वीर को पूरा करने के सारे रास्ते खोज डालेगा कभी भी है ना सोचे कि आप हार रहे हैं अथवा असफल हो रहे हैं अपनी मन की छवि की सच्चाई पर तनिक भर भी शंका न करें|
  2. जब भी आपके मन में उस छवि के बारे में कोई भी अथवा किसी भी प्रकार का नकारात्मक विचार आए तो इसे तुरंत समाप्त करने के लिए तत्काल ही कोई सकारात्मक विचार सोच ले|
  3. अपनी इस कल्पना में किसी भी प्रकार की बाधाओं का निर्माण करें हर तथाकथित बाधा को हमेशा कम करके आंखें अपनी कल्पना में बाधा को बड़ा होने ना दें|
    दूसरों को देखकर चमत्कृत ना हो जाए और उनकी नकल करने की कोशिश कभी भी ना करें आप के रुप में कोई भी इतना प्रभावशाली अथवा योग्य कभी भी नहीं हो सकता जितना कि आप हैं| याद रखें कि ज्यादातर लोग अपने ऊपर से आत्मविश्वास से भरे दिखते हैं| किंतु अंदर से वह भी अपने बारे में उतने ही डरे हुए और संकोच से भरे रहते हैं जैसे कि मैं और आप|
  4. इस वाक्य को हर दिन शक्तिशाली शब्दों से दिन में अनेकों बार दोहराये “अगर ईश्वर मेरे साथ है तो कौन मेरे खिलाफ हो सकता है” अभी भी आप पढ़ना बंद कर सकते हैं और इन शब्दों को धीमे धीमे और गहन विश्वास से दोहरा सकते हैं|
    अपनी योग्यता का इमानदारी से सच्चा अनुमान लगाएं| फिर इसे 10% बढ़ा लें कभी भी अहंकारी नहीं बने परंतु स्वस्थ आत्मसम्मान विकसित अवश्य करें| ईश्वर द्वारा खुद को दी गई शक्तियों में हमेशा विश्वास रखें|
  5. खुद को यह याद दिलाएं कि ईश्वर आपके हमेशा साथ हैं और इसलिए आपको कभी भी कोई भी कहीं नहीं हरा सकता| विश्वास करें कि आपको अभी उसी से वह शक्ति प्राप्त हो रही है|