Amrit Sarovar Yojana: अमृत सरोवर योजना 2022 | लाभ एवं उद्देश्य

Amrit Sarovar Yojana: अमृत सरोवर योजना 2022 अभी हमलोग आजादी का अमृत महोत्सव मना रहे हैं, जो कि भारत के 75 वर्ष पूरे होने पर यहां के लोगों द्वारा भारत के गौरवशाली इतिहास को याद करते हुए जश्न मनाने के लिए भारत सरकार की एक अद्भुत पहल है, जिस Amrit Sarovar Yojana की शुरुआत 12 मार्च 2021 को हुई थी जो हमारी स्वतंत्रता के 75 वी वर्षगाठ पर  15 अगस्त 2023 को समाप्त होगी।

Amrit Sarovar Yojana: अमृत सरोवर योजना 2022 अभी हमलोग आजादी का अमृत महोत्सव मना रहे हैं, जो कि भारत के 75 वर्ष पूरे होने पर यहां के लोगों द्वारा भारत के गौरवशाली इतिहास को याद करते हुए जश्न मनाने के लिए भारत सरकार की एक अद्भुत पहल है, जिस Amrit Sarovar Yojana की शुरुआत 12 मार्च 2021 को हुई थी जो हमारी स्वतंत्रता के 75 वी वर्षगाठ पर  15 अगस्त 2023 को समाप्त होगी।

झारखंड राज्य फसल राहत योजना

इसी प्रकरण में भारत के यशस्वी प्रधानमंत्री ने आजादी के अमृत महोत्सव के ही मध्य भूमिगत जल के संरक्षण हेतु अमृत सरोवर मिशन योजना को 24 अप्रैल 2022  को भूमिगत जल के संरक्षण का संकल्प लेकर इस योजना का ऐलान किया था।

अमृत सरोवर योजना 2022, क्रियान्वयन, लाभ एवं उद्देश्य

Amrit Sarovar Yojana
Amrit Sarovar Yojana 2022

भूजल एक अति महत्वपूर्ण प्राकृतिक संसाधन है यह प्रकृति की ओर से दिया गया मुफ्त संसाधन है धरातल का दो तिहाई भाग जल से घिरा हुआ है फिर भी इसका 2 से 3% भाग ही इस्तेमाल करने लायक है पूरा विश्व जल के गिरते स्तर की वजह से संकट की स्थिति में है, यूरोप के कई देशों में जल जल संकट के चपेट में है। अमृत सरोवर योजना | amrat sarover scheme | अमृत सरोवर मिशन | अमृत सरोवर योजना का उद्देश्य एवं लाभ

ऐसे में भारत देश की जल बचाने की यह पहल  सराहनीय साबित होगा। केंद्र सरकार ने रेल मंत्रालय और भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण(NHAI) से कहां है कि वे अमृत सरोवर योजना के तहत देशभर के सभी जिलों में तालाबों, टैंको से खुदाई की गई मृदा, गाद का उपयोग अपनी बुनियादी ढांचा परियोजनाओं के लिए करें

[Highlights] Amrit Sarovar Yojana

योजनामुख्यमंत्री बाल गोपाल योजना 2022
उद्देश्यपोषण युक्त आहार प्रदान करना
लाभकुपोषण से छुटकारा
शुरुआतराजस्थान सरकार
साल2022
लाभार्थी हैंकक्षा 1 से 8 तक

 अमृतसर सरोवर योजना का उद्देश्य

Amrit Sarovar Yojana अमृत सरोवर योजना भारत जैसे विशाल जनसंख्या वाले देश में अति जन कल्याणकारी योजना है, हमारे देश में शहरीकरण का विस्तार बहुत तेजी से हो रहा है, जिसके कारण प्राकृतिक संसाधनों का दोहन भी तेजी से हो रहा है कई राज्यों में भूजल समाप्त है, या समाप्त होने के कगार पर है।

अमृत सरोवर योजना
अमृत सरोवर योजना का उद्देश्य एवं लाभ

अमृत सरोवर योजना का उद्देश्य भूजल स्तर को रिचार्ज करना है,और सालो भर सामान्य बनाए रखना है। इसी कड़ी में  हर एक जिले में 75 तालाब बनवाने हैं, जिसमें वर्षा का जल सालों भर संरक्षित रह सके और जरूरत पड़ने पर उस जल का उपयोग किया जा सके।

इसके साथ ही बने हुए तालाब और कुएं का सुदृढ़ीकरण और सौंदर्यकरण की भी योजना है।

अमृत सरोवर योजना की मुख्य विशेषताएं

अमृत सरोवर योजना आजादी के अमृत महोत्सव के साथ ही चलाया जा रहा है इस योजना का प्रमुख विशेषताएं है;

  • अमृत सरोवर मिशन के तहत देश में 50हजार तालाब का निर्माण और सुदृढ़ीकरण कराना है, हर जिले में 75 जलाशयों का निर्माण एवं सुदृढ़ीकरण कराना है।
  • अमृत सरोवर जलाशय की गहराई 10000 घन मीटर की जल धारण क्षमता के साथ 1 एकड़ का क्षेत्र भी होनी चाहिए।
  • अमृत सरोवर योजना में अन्य योजनाओं को भी एक साथ जोड़ा गया है जैसे महात्मा गांधी नरेगा, 15 वे वित्त आयोग अनुदान, पीएमकेएसवाई उप योजनाएं जैसे वाटर शेड विकास घटक हर खेत को पानी इत्यादि।
  • अमृत सरोवर योजना 2022 कई राज्यों में शुरू हो चुकी है जैसे उत्तर प्रदेश हरियाणा हिमाचल प्रदेश मध्यप्रदेश आदि।
  • अमृत सरोवर योजना को 15 अगस्त 2023 तक पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है।
  • इस योजना के केंद्र में स्थानीय स्वतंत्रता सेनानी, और उनके परिवार के सदस्य, शहीद के परिवार के सदस्य ,पद्म पुरस्कार विजेता और स्थानीय क्षेत्र के नागरिक जहां अमृत सरोवर का निर्माण किया जाना है, वहा मौजूद रहना अनिवार्य होगा।
  • इस योजना को पूरा करने के लिए गैर सरकारी संगठन संस्थान से भी सहयोग मांगा गया है।

Amrit Sarovar Yojana के अंतर्गत कौन-कौन से मंत्रालय शामिल है

  • ग्रामीण विकास विभाग
  • भूमि संसाधन विभाग
  • पेयजल एवं स्वच्छता विभाग
  • जल संसाधन विभाग
  • पंचायती राज्य मंत्रालय विभाग
  • वन पर्यावरण और जलवायु परिवर्तन विभाग

Amrit Sarovar Yojana: Benefits

  • अमृत सरोवर योजना भारत सरकार की महत्वकांक्षी योजना है, इस योजना में भारत सरकार की 6 मंत्रालय शामिल है, यदि इस योजना की क्रियान्वयन सही ढंग से हो जाता है, जो भारत की जल संकट की समस्या आने वाले पीढ़ी के लिए दूर हो जाएगी। 
  • वर्षा का जल संरक्षित नहीं होने के कारण हमारा भूजल  रिचार्ज नहीं हो पाता है जिसके कारण गर्मियों के मौसम में जल स्तर गिर जाता है और पानी की समस्या शुरू हो जाती है। यह योजना पूरे भारतवर्ष में तालाब और कुए के माध्यम से सालों भर वर्षा के जल को संरक्षित रखेगी।
  •  सरोवर में सालो भर वर्षा का जल संरक्षित होने से खाद्यान्न की भी पैदावार अच्छी होगी। सरोवर के चारों ओर छायादार वृक्ष लगाने से हरित क्षेत्र  भी बढ़ेगा।
  • अमृत सरोवर योजना के तहत निर्मित तालाब और कुएं में  के आसपास बैठने का भी इंतजाम किया जाएगा और पर्यटन क्षेत्र के रूप में विकसित किया जाएगा
  • इस योजना के तहत मछली उत्पादन और सिंचाई के लिए पानी उपलब्ध होने के कारण फसल के पैदावार भी अच्छी होगी। मवेशी पालन में भी सहायता मिलेगी।
  • जैव विविधता बढ़ेगी और जलीय जीव से होने वाली आमदनी भी बढ़ेगी।

अमृत सरोवर योजना के लिए तकनीकी भागीदार

अमृत सरोवर योजना के अंतर्गत 50 हजार सरोवर का निर्माण करना है प्रत्येक जिले में 75 सरोवर का निर्माण करना है इतने बड़े प्रोजेक्ट  बिना  तकनीक के माध्यम से संभव नहीं है। 

अमृत सरोवर योजना के तकनीक भागीदार है, भास्कराचार्य राष्ट्रीय अंतरिक्ष अनुप्रयोग और भू- सूचना विज्ञान संस्थान (BISAG-N) को इस मिशन के लिए तकनीकी भागीदार के रूप में नियुक्त किया गया है।

अमृत सरोवर योजना की समीक्षा

अमृत सरोवर योजना भारत सरकार की महत्वकांक्षी योजना है। यह योजना गिरते भूजल स्तर को उठाने का प्रयास है, वर्षा के जल को संचयन कर सरोवर के माध्यम से सालों भर के लिए पानी को रिचार्ज करने की व्यवस्था है।

वर्षा का जल संरक्षित रहेंगे तो निश्चित तौर पर आने वाली पीढ़ी के लिए जल को सहेज के रख पाएंगे। 

हमारे पूर्वज भी कुएं और तालाब के माध्यम से जल को संरक्षित रखते थे,लेकिन शहरीकरण की अंधी दौड़ में धीरे धीरे हमारी प्राकृतिक संसाधन का दोहन किया है,और जल को रसताल में पहुंचा दिया। इसलिए अमृत सरोवर योजना फिर से जल जो हमारा जीवन है,

उसको संरक्षित करने का एक प्रयास है इस योजना को सफल बनाने के लिए हमे हरसंभव प्रयास करना चाहिए।

FAQ

अमृत सरोवर योजना क्या है?

अमृत सरोवर योजना भारत सरकार की एक पहल है, इसमें वर्षा के जल को संरक्षित कर उपयोग में लाने के लिए सरोवर बनाना एवं उसका सुदृढ़ीकरण करने की योजना है, इसके लिए पूरे भारत में 50 हजार सरोवर का निर्माण करना है, प्रत्येक जिले में 75 सरोवर बनाना है।

इस योजना की शुरुवात कब की गई थी?

इस योजना की शुभारंभ 24 अप्रैल 2022 को हुई थी इसको पूरा करने का लक्ष्य 15 अगस्त 2023 को है। यानी स्वतंत्रता दिवस के 75वी वर्षगाठ पर इस योजना को पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है।

अमृत सरोवर योजना के अंतर्गत निर्माण किए जाने वाले तालाब का क्षेत्रफल कुल कितना होगा।

योजना के अंतर्गत एक तालाब में कुल 1 हेक्टेयर की जमीन की निर्धारित की गई है जिसमें कुल 10 क्यूबिक मीटर पानी को संग्रहित किया जा सकेगा।

इस योजना से किन राज्यों को लाभ मिलेगा?

इस योजना से समस्त भारत के लोग लाभान्वित होंगे।

1 thought on “Amrit Sarovar Yojana: अमृत सरोवर योजना 2022 | लाभ एवं उद्देश्य”

Comments are closed.