Mahabhulekh 7/12 Online Apply महा भूमि अभिलेख bhulekh.mahabhumi.gov.in

Mahabhulekh 7/12 एवं महा भूमि अभिलेख bhulekh.mahabhumi.gov.in पोटर्ल महाराष्ट्र सरकार के द्वारा महाभूलेख के नाम से ऑनलाइन भूमि रिकॉर्ड पोर्टल भी शुरू किया गया है इस पोर्टल को पुणे ,नाशिक ,औरंगाबादज़ नागपुर और अमरावती जैसे राज्य के प्रमुख स्थानों के आधार पर आगे विभाजित किया गया है।

Mahabhulekh 7/12 एवं महा भूमि अभिलेख bhulekh.mahabhumi.gov.in पोटर्ल महाराष्ट्र सरकार के द्वारा महाभूलेख के नाम से ऑनलाइन भूमि रिकॉर्ड पोर्टल भी शुरू किया गया है इस पोर्टल को पुणे ,नाशिक ,औरंगाबादज़ नागपुर और अमरावती जैसे राज्य के प्रमुख स्थानों के आधार पर आगे विभाजित किया गया है।

 इस भूमि पोर्टल पर आप भू नक्शा ,ऑनलाइन भूमि रिकॉर्ड, खतौनी नंबर खसरा नंबर आदि से संबंधित जानकारी ले सकते हैं। इसके बारे में समस्त जानकारी प्राप्त करने के लिए आपको हमारे इस आर्टिकल को ध्यान पूर्वक पढ़ना है।

Mahabhulekh 7/12

Mahabhulekh 7/12 महाराष्ट्र सरकार के द्वारा सभी भूमि रिकॉर्ड के लिए एक ऑनलाइन भूमि रिकॉर्ड पोर्टल भी बनाया गया। जिसे महाभूलेख के नाम से जाना जाता है। इच्छुक लोग जो महाराष्ट्र राज्य में भूमि के बारे में जानकारी चाहते हैं वे इस पोर्टल की मदद से विवरण एकत्र कर सकते हैं यह उनके समय को बचाएगा और छोटी जानकारी चंद मिनटों में उपलब्ध हो जाएगी।

Mahabhulekh 7/12 के बारे में:-

🌏 योजना महा भूलेख महाभूमि, Mahabhumi abhilekh
🌏 किसने लॉन्च की:महाराष्ट्र की सरकार ने 
🌏 लाभार्थी:महाराष्ट्र के सभी नागरिक
🌏 उद्देश्य:भूमि के संबंधित सभी प्रकार की जानकारी प्राप्त करना
🌏 वेबसाइट लिंक:https://bhulekh.mahabhumi.gov.in/
🌏 स्वाक्षरीत सातबारा लिंक:https://digitalsatbara.mahabhumi.gov.in/

Mahabhulekh 7/12 ऑनलाइन online 

महाभूलेख को अलग-अलग जगहों पर अलग-अलग नामों से जैसे जमाबंदी ,खसरा ,खतौनी अभिलेख, खेत के कागजात ,खेत का नक्शा आदि से जाना जाता है अब राज्य के लोगों को पटवारखाने जाने की आवश्यकता नहीं होगी।

घर बैठे इंटरनेट के माध्यम से  भूमि के संबंध में समस्त जानकारी प्राप्त कर सकेंगे महाभूलेख रोजना चलाने से किसानों का काम काफी आसान हो गया। 

देश में कहीं भी बैठे ऑनलाइन भूमि के बारे में समस्त जानकारी प्राप्त कर सकते हैं और डाउनलोड भी कर सकते हैं।

भूलेख से संबंधित जानकारी भू अभिलेख विभाग द्वारा पूरे राज्य मैं तैयार किए गए हैं।इन मैप को आधिकारिक वेबसाइट पर उपलब्ध कराया गया है जिससे कि सभी नागरिक मैप से संबंधित जानकारी प्राप्त कर सकें।

इसी के साथ आधिकारिक वेबसाइट पर सेटेलाइट के माध्यम से आसानी से भूमि को भी देखा भी जा सकता है इन सभी मैप के आधार पर उनकी सीमाओं को बनाया जाता है। 

सभी मैंप का डिजिटलीकरण किया गया इससे पहले प्रदेश में सरकारी कार्यों के चक्कर काटने पड़ते थे। अब महाभूलेख से काफी राहत मिलेगी घर बैठे ऑनलाइन भूमि की जानकारी प्राप्त कर पाएंगे इससे उनका काम काफी आसान होगा।

Mahabhulekh 7/12 उद्देश्य purpose

जैसा कि आप सब जानते हैं कि इस ऑनलाइन पोर्टल के आरंभ होने से राज्य के लोगों को अपनी भूमि से जुड़ी कोई भी जानकारी प्राप्त करनी हो तो उन्हें पटवार खाने जाना पड़ता था और वहां जाकर काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ता था। 

इसकी वजह से लोगों का काफी समय बर्बाद होता था इन सभी परेशानियों को देखते हुए राज्य सरकार ने इस समस्या का समाधान कर दिया। 

इस ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से किसानों का काफी समय बचेगा और काफी आसानी से अपनी भूमि के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकेंगे। आपको बताते चलें कि ऑनलाइन पोर्टल काफी हितकर सिद्ध होगा और भूमि संबंधी समस्त जानकारी इससे हम आसानी से प्राप्त कर सकेंगे।

इस योजना का प्रमुख उद्देश्य किसानों के पटवार खाने में जो  चक्कर काटना और समय की बर्बादी होती थी, उससे निजात पाना है और अब ऑनलाइन होने से सारे काम आसान हो जाएंगे और समय की बचत होगी।

Mahabhulekh 7/12 विभाग का लक्ष्य 

भू अभिलेख विभाग का मुख्य लक्ष्य भूमि से संबंधित सभी प्रकार के रिकॉर्ड को ऑनलाइन उपलब्ध करवाना है। जिससे राज्य में ऑनलाइन सुविधा प्राप्त हो सके और घर बैठे भूमि के बारे में समस्त जानकारी प्राप्त कर सकें।

 इस योजना का प्रमुख लक्ष्य यह भी है, कि नागरिकों को किसी सरकारी कार्यालय के चक्कर काटने की आवश्यकता ना हो उन्हें घर बैठे आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से भूमि से संबंधित सभी प्रकार के रिकॉर्ड प्रदान हो जाएं जिससे कि समय और पैसे दोनों की बचत हो तथा इसमें पारदर्शिता है। 

भू अभिलेख विभाग द्वारा आधुनिक तकनीकों का इस्तेमाल करके पूर्ण नक्शा भी आधिकारिक वेबसाइट पर उपलब्ध करवाया जाएगा, जिससे किसानों को सभी प्रकार की दिक्कतों का सामना खत्म हो जाएगा और किसान घर बैठे भूमि से संबंधित सभी जानकारी ले सकेंगे। 

महाभूलेख पोर्टल Mahabhulekh Portal के लाभ 

  • महाभूलेख ऑनलाइन मोड के माध्यम से भूमि रिकॉर्ड प्रदान किया जाएगा। 
  • भूलेख विवरण के लिए आपको सरकारी कार्यालय के बाहर लंबे समय तक इंतजार करने की आवश्यकता नहीं होगी।
  • अब आपको महाभूलेख के माध्यम से भूमि की जानकारी कुछ ही मिनटों में मिल जाएगी। 
  • अब घर बैठे इंटरनेट के माध्यम से आप अपनी भूमि की समस्त जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

ई भूलेख Mahabhulekh Portal से संबंधित जानकारी

Mahabhulekh 7/12 ई भूलेख को भूमि रिकॉर्ड आधुनिकरण कार्यक्रम के अंतर्गत आरंभ किया गया है भूलेख के माध्यम से राज्य के सभी नागरिक कंप्यूटराइज्ड डाटा एवं भू नक्शा देख सकते हैं। 

इस माध्यम से सभी प्रकार की जानकारी इसी स्थान पर उपलब्ध करवाई जाएगी आधिकारिक वेबसाइट पर प्रदेश के नागरिकों को उनकी आय की जानकारी भी प्रदान की जाएगी। 

आधिकारिक वेबसाइट से प्राप्त हुए भूमि के विवरण के आधार पर नागरिकों को लोन भी प्रदान किया जाएगा। आम नागरिक भी ई भूलेख का उपयोग करके समस्त जानकारी घर बैठे प्राप्त कर सकेंगे तथा उन्हें सरकारी कार्यालयों के चक्कर नहीं काटने होंगे।

यह भी पडे-

अमृत ​​सरोवर योजना के लाभ
स्मार्ट अर्बन फार्मिंग योजना
मेरी पहचान पोर्टल ऑनलाइन आवेदन

ऑनलाइन भूमि रिकॉर्ड जांच करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको राज्य भूलेख  की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाना होगा। 
  • वेबसाइट के होमपेज से आपको पुणे,नासिक,औरंगाबाद,नागपुर,कोंकण,अमरावती अपने स्थान का चयन करना होगा। 
  • फिर गो विकल्प पर क्लिक करना होगा और एक नया वेबपेज स्क्रीन पर दिखाई देगा जहां पर आप को से “7/12” या 8 ए का चयन करना होगा।
  • अब जिला ,गांव आदि स्क्रीन पर पूछे गए विवरण को दर्ज करना होगा।
  • फिर स्क्रीन पर पूछे गए विवरणों का चयन करें और खोजने विकल्प पर क्लिक करें।
  • अब आपको कंप्यूटर की स्क्रीन पर दिखाई देने वाला कैप्चा कोड दर्ज करना होगा।
  • इसके बाद वेरीफिकेशन कैप्चा पर क्लिक करें और डिस्प्ले ” 7/12″ ऑप्शन पर क्लिक करें इस तरीके से आपको ऑनलाइन विवरण प्राप्त हो।

महाभूलेख mhabhulekh जिला अनुसार भूमि रिकॉर्ड की जानकारी

Districtsub districtofficial link
अमरावतीअमरावती, अकोला, बुलढाणा, वाशिम, यवतमालclick here 
नागपुरनागपुर, भंडारा, वर्धा, चंद्रपुर, गढ़चिरौली, गोंदियाclick here 
औरंगाबादऔरंगाबाद, जलना, हिंगोली, नांदेड़, लातूर, उस्मानाबाद, बिड, परभणीclick here 
पुणेपुणे, सातारा, सोलापुर,संगला, कोल्हापुरclick here 
नाशिकनाशिक, अहमदनगर, जलगांव, Dhule, नंदुरबारclick here 
कोंकणपालघर, थाने, रायगढ़, रत्नागिरी, सिंधुदुर्ग, मुंबई suburban, मुंबई सिटीclick here 
झारखंड राज्य फसल राहत योजना

समीक्षा-

ई भूलेख को भूमि रिकॉर्ड डिजिटल कार्यक्रम के तहत प्रारम्भ किया गया है। भूमि लेख को ऑनलाइन करने से सभी जमीदारो को अपनी जमीं का लेखा जोखा इंटरनेट पर दिखने लगेगा जिससे जमीं के सम्बंदित सभी काम आसान होंगे।

आधीकारिक वेबसाइट पर भूमि का विवरण मिलने से नागरिको को लोन लेने में भी बहुत आसानी होगी इस नई तकनीक का उपयोग करके आप अपनी भूमि के सम्बंधित सम्पूर्ण जानकारी प्राप्त कर सकेंगे।

BOOK-दुर्गा सप्तशती पीडीएफ

ऋग्वेद पीडीएफ डाउनलोड

दुर्गा सप्तशती पीडीएफ

FAQ –

प्रश्न-महाभूलेख पोर्टल क्या है?

उत्तर-महाभूलेख पोर्टल  महाराष्ट्र भूमि महाभूलेख  एक ऑनलाइन रिकॉर्ड वेबसाइट है जिसे महाराष्ट्र सरकार ने लॉन्च किया था।

प्रश्न-महाभूलेख पोर्टल में क्या काम होता है?

उत्तर-महाभूलेख पोर्टल में भूमि का लेखा जोखा का काम होता है जिसमे महाराष्ट्र राज्य की भूमि का रिकॉर्ड रखा जाता है।

Q- What is Mahabhulekh Portal?

Ans – Mahabhulekh Portal Maharashtra Bhoomi Mahabhulekh is an online record website which was launched by the Government of Maharashtra.

Q- What is the work done in Mahabhulekh portal?

Ans – The work of accounting of land is done in the Mahabhulekh portal, in which the record of the land of the state of Maharashtra is kept.