मत्स्य विकास योजना 2022,ऑनलाइन आवेदन, पात्रता विशेषताएं और लाभ

मत्स्य विकास योजना:2022, CG Matsya Vikas puraskar Yojna;ऑनलाइन आवेदन, पात्रता,विशेषताएं, और लाभ बिलासाबाई केवंटीन मत्स्य विकास पुरस्कार योजना 2022। छत्तीसगढ़। agriportal. CG.nic.in।एक लाख रुपए की पुरस्कार।

मत्स्य विकास योजना:2022, CG Matsya Vikas puraskar Yojna;ऑनलाइन आवेदन, पात्रता,विशेषताएं, और लाभ बिलासाबाई केवंटीन मत्स्य विकास पुरस्कार योजना 2022। छत्तीसगढ़। agriportal. CG.nic.in।एक लाख रुपए की पुरस्कार।

मत्स्य विकास योजना matsya vikas yojana छत्तीसगढ़ राज्य भारत के सबसे तेजी से विकसित होने वाले राज्यों में से एक है यहां धान की पैदावार भरपूर मात्रा में होती है, इसलिए इस राज्य को धान का कटोरा भी कहा जाता है।

मत्स्य विकास योजना यहां मछली पालन के माध्यम से स्थानीय स्तर पर रोजगार उत्पन्न कर स्थानीय लोगों को पौष्टिक आहार उपलब्ध कराने में यह राज्य महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है समाज के कमजोर तबके के लगभग 2.20 लाख लोग मत्स्य पालन व्यवसाय से रोजगार प्राप्त कर रहे हैं।

छत्तीसगढ़ सरकार ने मछली पालन व्यवसाय की उत्पादक क्षमता बढ़ाने और रोजगार सृजन हेतु एक सकारात्मक पहल की है छत्तीसगढ़ सरकार ने राज्य के मछली पालन करने वाले किसान भाइयों समूह संगठन एवं संस्थाओं के बीच मत्स्य पालन में उत्कृष्ट उत्पादन करने वाले भाइयों को सरकार पुरस्कृत कर रही है।

मत्स्य विकास योजना के मुख्य तथ्य

योजना का नाममत्स्य विकास पुरस्कार योजना
किसके द्वारा शुरू की गईछत्तीसगढ़ सरकार द्वारा
आरंभ तिथि31 अगस्त 2022 
उद्देश्यमछली का उत्पादन और मत्स्य निर्यात का उद्योग बढ़ाना
लाभार्थीमछुआ किसान
योजना का लाभबागवानी वस्तुओं को विशाल बर्बादी से रोकना
आवेदन का प्रकारonline
अधिकारिक वेबसाइटwww.pmmsy.dof.gov.in

मत्स्य विकास योजना अव्वल उत्पादन करने वाले भाइयों को सरकार ₹100000 की पुरस्कार प्रतिवर्ष दे रही है यदि आप भी छत्तीसगढ़ राज्य के निवासी है और मछली उत्पादन से ताल्लुक रखते हैं तो आप इस प्रतियोगिता के लिए मत्स्य विभाग के आधिकारिक वेबसाइट agriportal.cg.nic.in पर जाकर 31 अगस्त 2022 तक अपना आवेदन कर सकते है।

श्रीमती बिलासाबाई केवंटीन मत्स्य विकास पुरस्कार योजना 2022

छत्तीसगढ़ शासन द्वारा राज्य में मत्स्य विकास के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाले मत्स्य पालक, मत्स्य किसान, सहकारी संस्था और संगठन को श्रीमती बिलासाबाई केवंटीन मत्स्य विकास पुरस्कार के रूप में एक लाख रुपए दिए जाने के व्यवस्था छत्तीसगढ़ राज्य के मत्स्य विभाग द्वारा की गई है।

इसके लिए मछली उत्पादन करने वाले भाई को मछली उत्पादन के क्षेत्र में नवीन अनुसंधान, जल क्षेत्र में वृद्धि और मछलियों के नई प्रजातियों के क्षेत्र में शोध करना होगा। इन्ही लोगो को इस पुरस्कार के लिए प्राथमिकता दी जाएगी।

CHHATTISGARH MATSYA VIKAS PURASKAR YOJNA ,के विशेषताएं और लाभ

  • मत्स्य विकास पुरस्कार योजना छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा लागू की गई एक योजना है जिसमें मछली पालन के क्षेत्र में एक साल के अंदर उत्कृष्ट प्रदर्शन,मछली उत्पादन के क्षेत्र में अनुसंधान करने वाले मत्स्य पालक,  संबंधित समूह, सहकारी संगठन को सरकार पुरस्कार देती है।
  • जो इच्छुक मछुआरे या संगठन, सहकारी समितियां इस योजना में आवेदन करना चाहते हैं, वे एक वित्तीय वर्ष में मत्स्य विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर आवश्यक दस्तावेज अपलोड कर आवेदन कर लाभ उठा सकते हैं।
  • इसी योजना के प्रतियोगिता में अव्वल आने वाले  मछली उत्पादक को उनके नवीन अनुसंधान कार्यों के लिए एक लाख रुपए देकर सरकार सम्मानित करती हैं।
  • CG Matsya Vikas puraskar scheme के तहत आवेदन करने के अंतिम तारीख 31 अगस्त 2022 है।

श्रीमती बिलासाबाई केवंटीन मत्स्य विकास पुरस्कार योजना 2022 की पात्रता का मापदंड

  • मत्स्य विकास के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाले मत्स्य पालक, मत्स्य किसान, सहकारी संस्थाएं, अशासकीय संगठन पुरस्कार के पात्र होंगे।
  • मत्स्य विकास कार्य क्षेत्र के अंतर्गत मत्स्य बीज उत्पादन एवं संवर्धन मत्स्य उत्पादन (कम से कम 3000 kg/हेक्टेयर), एकीकृत मछली पालन ( मछली के साथ मुर्गी, बत्तख ,डेयरी पालन) मछली पालन हेतु अतिरिक्त जल क्षेत्र का विकास, विलुप्त होने वाले मछलियों के प्रजाति का संरक्षण एवं मछलियों के होने वाली बीमारियों के रोकथाम हेतु की गई अनुसंधान कार्य वाले मत्स्य विकास पालक को इस पुरस्कार के लिए प्राथमिकता दी जाती है।
  • मत्स्य पालक छत्तीसगढ़ राज्य के मूल निवासी होनी चाहिए।
  •  पुरस्कार प्राप्त करने हेतु एक साल की अंदर कार्योबकी गणना की जाती है।

मत्स्य विकास योजना की आवेदन की शर्ते।

  • इस योजना के लिए कोई भी व्यक्ति/ संस्था/सहकारी समितियां एक से अधिक आवेदन नहीं कर सकते है।
  • आवेदन के साथ दस्तावेज के रूप में अपने क्षेत्र में मछली उत्पादन के क्षेत्र में किए गए नवीन कार्यों के फोटो, वीडियो आदि अधिक से अधिक उपलब्ध होनी चाहिए।
  •  चयन समिति सदस्यों द्वारा आवश्यकता अनुसार आवेदक के कार्य क्षेत्र में जाकर उनके द्वारा किए गए मत्स्य उत्पादन के क्षेत्र में अनुसंधान कार्य का अवलोकन किया जा सकेगा।
  •  पुरस्कार चयन के संबंध में चयन समिति का निर्णय अंतिम और सर्वमान्य होगा।

book download-

ऋग्वेद हिंदी पीडीएफ डाउनलोड
ऋग्वेद पीडीएफ डाउनलोड

अधिक जानकारी के लिए आप संपर्क कर सकते है:

अगर आप इस पुरस्कार से संबंधित अधिक जानकारी प्राप्त जाते हैं तो जिला स्तर पर पदस्थ मत्स्य विकास विभाग के आला अधिकारी विकासखंड स्तर पर मत्स्य निरीक्षक सहायक विकास अधिकारी से संपर्क कर सकते हैं

इसके अलावा अपने जिले के संयुक्त संचालक मछली पालन उपसंचालक मछली पालन और सहायक संचालक मछली पालन के पास आवेदन जमा कर सकते हैं।

श्रीमती बिलासाबाई केवंटीन मत्स्य विकास पुरस्कार योजना 2022; समीक्षा

मत्स्य विकास योजना छत्तीसगढ़ के कृषि और मत्स्य विभाग द्वारा संचालित श्रीमती बिलासाबाई केवंटीन मत्स्य विकास पुरस्कार योजना 2022 का उद्देश्य मछली उत्पादन के क्षेत्र में और जैव विविधता को बढ़ावा देना है, इसके माध्यम से नए नए अनुसंधान होंगे और निश्चित तौर पर मछलियों की नई-नई प्रजातियां का पता चलेगा।

उनकी उत्पादकता बढ़ेगी किसानों को स्थानीय स्तर पर रोजगार मिलेगा और प्रदेश में खुशहाली आएगी। आवेदक पुरस्कार पाने के लिए अपनी मेहनत और ईमानदारी से मछली उत्पादन करेंगें और दूसरे लोगो को भी प्रेरित करेंगे।

यह भी पडे-

उत्तराखंड फ्री टैबलेट योजना
मुख्यमंत्री नोनी सशक्तिकरण सहायता योजना
दुर्गा सप्तशती पीडीएफ
अमृत ​​सरोवर योजना के लाभ
स्मार्ट अर्बन फार्मिंग योजना
मेरी पहचान पोर्टल ऑनलाइन आवेदन

धन्यवाद,